Header
जूनियर इंजीनियर के यहां 2.38 करोड़ की संपत्ति बरामद
इस मामले में आर्थिक अपराध थाना में कांड संख्या 03/2014 दर्ज किया गया है। रामराज सिंह राजधानी के वाल्मी (वाटर एंड लैंड मैनेजमेंट इंस्टीच्यूट), फुलवारीशरीफ में तैनात हैं। एडीजी मुख्यालय रविन्द्र कुमार ने बताया कि रामराज सिंह के खिलाफ छह माह पूर्व ही अपराध शाखा को कुछ प्रमाण मिले थे। इसके बाद लगातार उनकी परिसंपत्तियों की जानकारी इकट्ठा की गई। शुक्रवार की तड़के उनके सगुना मोड़ स्थित रामदयाल इंक्लेव के फ्लैट संख्या 201 व 202 की तलाशी ली गई। तलाशी सुबह साढ़े सात बजे से ही शुरू कर दी गई। साथ ही उनके बक्सर स्थित पैतृक आवास, सैदपुर व दीघा के अन्य ठिकानों पर छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान बक्सर में 3 एकड़ 65 डिसमिल जमीन के 14 दस्तावेज मिले, जिनकी कीमत 57 लाख 13 हजार से अधिक है। इसी तरह सगुना मोड़ के दोनों फ्लैट की कीमत 34.70 लाख आंकी गई है। बड़ी बात यह कि दोनों फ्लैट के इंटीरियर डेकोरेशन पर लगभग 15 लाख रुपये खर्च किया गया है। कुल 1 करोड़ 46 लाख 35 हजार 208 रुपये मूल्य की जमीन के दस्तावेज बरामद किए गए हैं। घर से नकद भले 50 हजार रुपये ही मिले परंतु बैंकों में 70 लाख रुपये से अधिक के फिक्स डिपोजिट हैं। अभियंता के पास से 0.32 बोर का एक रिवाल्वर एवं .315 की रायफल मिली है। हालांकि दोनों असलहे बगैर कारतूस के ही मिले। खगडि़या में निगरानी के हत्थे चढ़ा उद्योग विस्तार पदाधिकारी : उद्योग विस्तार पदाधिकारी नवीन कुमार सिंह को शुक्रवार की शाम निगरानी टीम (पटना) ने दबोच लिया। निगरानी ने सिंह को साढ़े चार हजार रुपये घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा। शिकायतकर्ता प्रवीण ने बताया कि उन्होंने दिसंबर में उद्योग विभाग से दुकान का निबंधन निर्गत करने का आग्रह किया था। इस पर नवीन ने निबंधन निर्गत करने के नाम पर उनसे 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगी। सौदा पांच हजार रुपये में तय हुआ। पांच सौ रुपये अग्रिम दे दिए। शेष रुपये देने के लिए समय ले लिया। इसी बीच निगरानी विभाग में शिकायत की। शिकायत के सत्यापन के बाद निगरानी ने कार्रवाई की।
वापस...
Footer