Header
दो अभियंताओं के यहां छापेमारी, 5.72 करोड़ की संपत्ति मिली
टीम इओयू की ओर से यह कार्रवाई पथ निर्माण प्रमंडल, खगड़िया के कार्यपालक अभियंता सत्येंद्र कुमार सिंह व सिंचाई विभाग, अररिया के सहायक अभियंता मुकेश कुमार सिंह के कार्यालय समेत अन्य ठिकानों पर एक साथ शुक्रवार को की गई। दोनों अधिकारियों के पास छापेमारी के दौरान लगभग 5.72 करोड़ रुपये की अवैध रूप से अर्जित की गयी चल- अचल संपत्ति रखने का मामला उजागर हुआ है। छापेमारी के बारे में जानकारी देते हुए एडीजी, मुख्यालय एसके भारद्वाज ने कहा कि शुक्रवार को टीम इओयू की ओर से पथ निर्माण प्रमंडल, खगड़िया के कार्यपालक अभियंता सत्येंद्र कुमार सिंह के चार अलग- अलग ठिकानों पर छापेमारी की गयी। इस दौरान इओयू ने कार्यपालक अभियंता के खगड़िया स्थित सरकारी आवास व कार्यालय समेत पटना के प्रियदर्शी नगर, रूपसपुर स्थित आवास और औरंगाबाद जिला के करसांव गांव में छापेमारी की गयी। कार्रवाई में छापेमारी दल ने कार्यपालक अभियंता के पटना स्थित तीन मंजिला भव्य आवास से 21.30 लाख नकद बरामद किया गया। इसके साथ ही स्वयं व परिजनों के नाम पर 53.76 लाख निवेश के कागजात भी बरामद किये गये हैं। जबकि, औरंगाबाद में 20.98 एकड़ जमीन खरीद के दस्तावेज भी छापेमारी दस्ते ने बरामद किये। चौंकाने वाली बात यह है कि इनके पास से जब्त आल्टो व जाइलो गाड़ियां बेनामी निकलीं। इओयू के प्रारंभिक आकलन के अनुसार कार्यपालक अभियंता सत्येंद्र लगभग 3.22 करोड़ की चल- अचल संपत्ति के मालिक हैं। वहीं अररिया जिला के सिंचाई विभाग, चंद्रदेई अनुमंडल के सहायक अभियंता मुकेश कुमार सिंह के चार अलग- अलग ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की गयी। इसके तहत अररिया स्थित सरकारी कार्यालय व आवास समेत पटना के बहादुरपुर स्थित कस्तूरबा कालोनी के आवास और नालंदा जिला के जगतपुर गांव पर इओयू ने कार्रवाई को अंजाम दिया। छापेमारी के दौरान स्वयं व पत्‍‌नी के नाम पटना, अररिया, नालंदा, फारबिसगंज शहर में सात एकड़ जमीन खरीद के कई दस्तावेज बरामद किये गये। इसके साथ ही पटना स्थित आवास से 11.29 लाख के एनएससी जब्त हुए। जबकि, 35 लाख रुपये विभिन्न वित्तीय संस्थानों में निवेश किये जाने के कागजात भी इओयू दस्ते को मिला। प्रारंभिक आकलन के अनुसार सहायक अभियंता लगभग 2.50 करोड़ से अधिक चल- अचल संपत्ति के मालिक हैं। टीम इओयू की ओर से इन दोनों अभियंताओं के विरूद्ध आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले पर प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। इसी आधार पर शुक्रवार देर शाम तक आठ अलग- अलग ठिकानों पर एक साथ छापेमारी चलती रही। इओयू द्वारा जब्त किये गये तमाम कागजात, नकद व निवेश का अंतिम मूल्यांकन कर दोनों आरोपी अभियंता पर आगे की कार्रवाई की जायेगी।
वापस...
Footer